आवेदन देने गए फरियादी को चौकी इंचार्ज व अन्य पुलिस कर्मियों ने पीटा-आँचलिक ख़बरें-अजय पांडेय

0
135

https://youtu.be/UfZ7mDl_ECI

जिले के खूटार करहिया चौकी अंतर्गत आने वाले ग्राम खूटार के व्यक्ति को शिकायत करने के बाद बिना मामले की जांच किए चौकी प्रभारी व पदस्थ पुलिसकर्मी मारने और गंदी गंदी गालियां देने लगे. । खूटार चौकी प्रभारी इन दिनों काफी सुर्खियों में बने हुए हैं। जिसकी एक वजह है की खूटार मार्केट के कई अवैध धंधों में लिप्त लोगों से पकड़ होने के कारण आए दिन चौकी में न्याय के लिए जाने वाले व्यक्ति के साथ वही के पुलिसकर्मियों के द्वारा न्याय ना करके उल्टा फरियादी के साथ मुजरिम की तरह पेश होते हैं।वहीं एक मामला खूटार ग्राम के रहने वाले देवेंद्र नामदेव, पिता काशी प्रसाद नामदेव तथा रमेश साहू निवासी खूटार का कुछ दिन पहले रमेश शाह मेरा रास्ता रोक कर मुझे मारने की कोशिश कर रहा था। मौक स्थल से भागकर मैंने अपनी जान बचाई। फिर उसके खिलाफ चौकी में आवेदन देने के लिए पहुंचा तो वहां पर रमेश शाह एवं उनके कई साथी चौकी में पहले से पहुंचे हुए थे। चौकी प्रभारी के पास जैसे ही मैं पहुंचा तो दिलीप धाकड़ व नीरज सिंह चौकी प्रभारी बिना कुछ सुने ही मुझे कई थप्पड़ मारे और दिलीप धाकड़ मुक्के से पीठ पर मारा, एवं गाल पर थप्पड़ मारने के कारण व्यक्ति के दांत में दर्द होने लगा एवं जैसे ही देवेंद्र नापित बताना चाहा कि मैं आवेदन देने चौकी आया हूं। उसकी बात को सुने बिना ही उसको गंदी गंदी गालियां देते हुए रमेश शाह के खिलाफ केस नहीं करने के लिए दबाव बनाने लगे। वही प्राप्त जानकारी के अनुसार देवेंद्र नामदेव खूटार बाजार में कपड़ा सिलता है। एवं सीधा-साधा व्यक्ति देवेंद्र जो खूटार मे एक गुमटी में अपनी दुकान खोला है,जहॉं विद्यालयों में पढ़ाने वाले शिक्षक दुकान पर घंटों बैठा करते हैं,। शिक्षकों के साथ अधिकतर समय तक रहता है॥ जिससे यह साफ है कि समाज में उनकी छवि साफ-सुथरी बनी हुई है। फिर भी चंद पैसों के लालच में आकर पुलिसकर्मी व चौकी प्रभारी अनायास ही उसके चौकी पहुंचते ही गाली गलौज देकर हाथापाई करने लगे। जबकि वर्षों से एक छोटे से दुकान में कपड़े सिलने का कार्य करने वाले युवक की बेदम पिटाई करते हुए क्या चौकी प्रभारी को थोड़ी भी दया नहीं आई,। न्याय हेतु देवेंद्र ने 16/01/2020 को पुलिस अधीक्षक महोदय के आवक जावक शाखा में आवेदन देकर अपने सुरक्षा की गुहार लगाई एवं चौकी प्रभारी व चौकी में पदस्थ पुलिसकर्मियों के व्यवहार की निंदा की, एवं आज दिनांक तक समस्याओं से जूझ रहे देवेंद्र नामदेव की तबीयत अस्वस्थ है। एवं खूटार चौकी में पदस्थ पुलिस कर्मियों की दबंगई को देखकर खूटार की ग्रामीण जनता थाने चौकी जाने से डरने लगी है। कहीं न कहीं पुलिस की वर्दी में बैठे पुलिसकर्मियों को खुली छूट देने के कारण आज यह माहौल बन गया है। कि कोई भी व्यक्ति चौकी जाने से डरने लगा है, और चौकी प्रभारी खूटार के दबंग एवं आदतन अपराधी प्रवृति के लोगों को खुली छूट दे हजारों की अवैध वसूली करने से बाज नहीं आ रहे हैं।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here