डोंगरगांव नगर के ह्रदय स्थल पर स्थित पीडब्ल्यूडी विश्राम गृह का भगवान ही मालिक है मुख्यमंत्री और पीडब्ल्यूडी मंत्री का लगा होर्डिंग्स बोर्ड कचरे के ढेर में-आंचलिक ख़बरें-हेमंत वर्मा

0
143

 

गंदगी का आलम ऐसा कि आप देखकर ही अंदाजा लगा सकते हो कैसा हाल बेहाल है

 

नगर के बीचों-बीच स्थित पीडब्ल्यूडी विभाग का विश्राम गृह का हाल व अंदाजा आप विश्राम गृह के कैंपस अंदर घूसते ही अंदाजा लगा सकते हैं कि कितना स्वच्छ और सुंदर है गंदगी से चारों और पटा पड़ा हुआ है।एक तरफ देश में समय समय पर प्रधानमंत्री के आव्हान पर स्वच्छता अभियान चलाया जाता है लेकिन इस सरकारी तंत्र की ढोल की पोल खोल रहा है पीडब्ल्यूडी विभाग के अधिकारी कर्मचारी इस नियमों को ताक में रखकर बैठा रहता है ऐसे भी पीडब्ल्यूडी विभाग के काम काज कितना अपने जिम्मेदारी से निभाते हैं ये सभी लोगों को पता है नगर के ह्रदय स्थल पर होने के कारण छोटे बड़े नेताओं व शासन प्रशासन के लोगों के आने जाने वालों का तांता लगा रहता है फिर भी इस हालत को देखकर चिंतन का विषय है।

विश्राम गृह के अंदर कई महिनों से कचरे के ढेर की तरह पड़ा हुआ है मुख्यमंत्री और पीडब्ल्यूडी मंत्री का लगा हुआ होर्डिंग्स

विश्राम गृह के अंदर भूपेश बघेल मुख्यमंत्री व ताम्रध्वज साहू पीडब्ल्यूडी मंत्री का फोटो लगा हुआ
होर्डिंग्स कचरे के ढेर जैसा इधर उधर कई बिखरे पड़े हैं जिस पर खुज्जी विधानसभा क्षेत्र विधायक छन्नी साहू के नाम अंकित है वहीं खुज्जी विधानसभा क्षेत्र के विभिन्न गांवों का नाम लिखा हुआ है जो कि शासन के द्वारा किये गये विकास कार्यों और लागतों को दर्शा रहा है अगर समय रहते नहीं लगाया गया तो कबाड़ के भाव में बिकेगा इस तरह लापरवाही शासन में रहने वाले लोगों के लगें मुख्यमंत्री व पीडब्ल्यूडी मंत्री के साथ हो रहा है तो अंदाजा लगा सकते हैं कितने जिम्मेदारी पूर्वक कार्य हो रहा है।

विश्राम गृह के अंदर घुमंतु जानवरों का बसेरा बना हुआ है

विश्राम गृह में गंदगी का आलम तो फैला हुआ लेकिन इसके अलावा यहां पर घुमंतू जानवर गाय,सुअर,मुर्गी, आवारा कुत्तों का निवास स्थान बन गया है यहां पर बिना रोक-टोक के सभी प्रकार के जानवर घूम घाम चले जाते हैं यहां पर कार्यरत अधिकारी कर्मचारी को इन सब पर कोई नजर नहीं है और न ही किसी प्रकार के कोई लगाम है ।

हरे भरे पेड़ पौधों को बिना अनुमति चढ़ा दिया बली

विश्राम गृह के अंदर अनेक प्रकार के छोटे बड़े पेड़ पौधे लगाए हुए हैं लेकिन इन्हीं के अंदर लगें हुए फलदा पेड़ बेल, नींबू, अमरूद के पेड़ों को बिना किसी अनुमति काट कर बलि चढ़ी दी।

अधिकारी कर्मचारी नही रहते मुख्यालय में

अधिकारी कर्मचारी के निवास के लिए क्वांटर तो बना हैं लेकिन यहां पर अधिकारी कर्मचारी नहीं रहते हैं जिस कारण यहां पर बना क्वाटर जर्जर हो गया है हालात यह है कि अब क्वाटर मेंटेनेंस नहीं होने के कारण खंडहर व भुत बंगला में तब्दील हो चुका है लगातार हमारे द्वारा बीच-बीच में शासन प्रशासन को खबर के माध्यम से ध्यान आकर्षित कर रहे हैं लेकिन कोई प्रकार जूं भी नही रे़ग पा रहे हैं। वहीं पीडब्ल्यूडी विभाग में प्रतिवर्ष मेंटेनेंस का राशि खर्च करने के लिए आते हैं लेकिन किस मद पर खर्च कर रहे या बंदरबांट कर रहा है जांच का विषय बना हुआ है।

डोंगरगांव विधायक एवं पिछड़ा वर्ग आयोग के अध्यक्ष दिलेश्वर साहू का कहना है कि

पीडब्ल्यूडी डोंगरगांव में सब इंजीनियर से लेकर विषयों पर शिकायत मिली है इस संबंध में संबंधित विभाग के मंत्री से शिकायत कर संबंधित कर्मचारियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की जाएगी हमारे शासन के मुख्यमंत्री व पीडब्ल्यूडी मंत्री के लगा होडिंग्स कचरे की ढ़ेर में पड़े होने शिकायत है तो निश्चित ही अधिकारी कर्मचारी के ऊपर गाज गिरेगी।

डोंगरगांव पीडब्ल्यूडी भाग राजनांदगांव के ई ई देवेंद्र नेताम का कहना है कि

पीडब्ल्यूडी विश्रामगृह डोंगरगांव इस संबंध में अनेक शिकायतें मिली है वहीं समाचार पत्रों में भी आया है संबंधित कर्मचारियों के खिलाफ जांच कर कड़ी कार्यवाही की जाएगी तथा पीडब्ल्यूडी विभाग के सभी समस्याओं का निराकरण जल्द ही की जाएगी।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here