खरगोन में पहली बार वितरित हुई मोटराईज्ड ट्रायसिकल-आँचलिक ख़बरें-संतोष पाटीदार

0
33

खरगोन 23 जनवरी 2020/ खरगोन जिले में पहली बार दिव्यांगों को मोटराईज्ड ट्रायसिकल का वितरण किया गया। गुरूवार को क्षेत्रीय सांसद श्री गजेंद्र पटेल ने स्थानीय नर्मदा भवन में 68 दिव्यांगों को मोटराईज्ड ट्रायसिकल की सौगात दी। दिव्यांगों को संबोधित करते हुए सांसद श्री पटेल ने कहा कि दिव्यांग भी किसी से कम नहीं है। मन में ठान ले, तो बहुत कुछ कर सकता है। दिव्यांगों में भी सामान्य व्यक्ति जैसी क्षमताएं मौजूद है। वहीं सांसद श्री पटेल ने दिव्यांगों से कहा कि दिव्यांग युवक-युवतियों के विवाह में आ रही कठिनाई को भी दूर किया जाएगा। उनके लिए ष्शनिवार को इसी भवन में परिचय सम्मेलन का आयोजन किया जा रहा है।

इस सम्मेलन के माध्यम से दिव्यांगों को अपना जीवनसाथी चुनने का अवसर प्राप्त होगा। परिचय सम्मेलन के पश्चात चयनित युवक-युवतियों का विवाह तय की गई तिथियों में सामुहिक विवाह सम्मेलन के रूप में किया जाएगा। शासन ने निर्धारित किया है कि युवक अथवा युवति में से किसी एक के निःशक्त होने पर 2 लाख रूपए तथा दोनों के निःशक्त होने पर 1 लाख रूपए की राशि प्रदान की जाती है। इस अवसर पर सामाजिक न्याय विभाग के उप संचालक धर्मेंद्र गांगले सहित अन्य जनप्रतिनिधि उपस्थित रहे।अब पप्पु काम पर पहुंचेंगे मोटराईज्ड ट्रायसिकल से
गोगावां निवासी पप्पु और प्रमिला गुरूवार की सुबह बस द्वारा नर्मदा भवन में आयोजित कार्यक्रम में पहुंचे थे। उनकों इस बात की खुशी थी कि उन्हें अब न तो बस का इंतजार करना पड़ेगा और नहीं सीट के लिए। क्योंकि इस कार्यक्रम के माध्यम से उन्हें सांसद श्री पटेल ने मोटराईज्ड ट्रायसिकल प्रदान की। पप्पू टाईपिंग का कार्य करते है। इससे उनका मुश्किल से गुजारा हो पाता है। घर से काम पर जाने के लिए भी उन्हें रिश्तेदारों, दोस्त या किसी पहचान वाले का सहारा लेना पड़ता है। अब पप्पू टाईपिंग करने शान से अपनी स्वयं की मोटराईज्ड ट्रायसिकल से पहुंचेगा।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here