दिनदहाड़े देवर ने की भाभी की कुल्हाड़ी से हत्या-आँचलिक ख़बरें-मोहित साहू

0
16

भारे बाज़ार में दिनदहाड़े देवर ने की भाभी की कुल्हाड़ी से हत्या भतीजा गम्भीर

सरेआम लोगों के बीच पिता पुत्रों ने दिया हत्याकाण्ड को अंजाम

जिले के भीतों माना क्षेत्र के भाँती कस्बे में एक ही परिवार के लोगों में हुए चबूतरे के विवाद के चलते एक महिला की लाठियों और कुल्हाड़ी से हत्या कर दी जबकि मां को बचाने के फेर में महिला का बेटा भी मरणासत्र हो गया है। यह पूरा पटनाक्रम यहां सीसीटीवी में कैद हो गया है। हत्यारोपी पर इस कदर खून सवार था कि उससे बचने के लिए बच्चों को लेकर भाग रही महिला पर दौड़ते हुए कुल्हाड़ी से वार किया। भागते भागते महिला गिर गई।

मां को बचाने के लिए बेटा दौड़ा लेकिन यह सिर्फ यही चिल्लाती रही कि भाग जा नहीं तो यह मार डालेंगे बेटे के सामने 11 ही चाचा ने उसकी मां की हत्या कर दी। इसके बाद यह शख्स भतीजे पर भी कुल्हाड़ी लेकर दौड़ा और उस पर भी चार किए जैसे जैसे वह भाग कर अस्पताल पहुंचा। उसके पीठ पर भी कुढ़ी के गंभीर चोट के कट लगे हैं। डॉक्टर ने बताया कि युवक की रीढ़ की हड्डी पर गहरे पाच है उसकी हालत नाजुक है।

है क्या है पूरा मामला जिले के भीती कस्बे में रहने वाले आरोपी राजू भार्गव अपनीमहिला को इस तरह कुल्हाड़ी से वार कर उतारा मौत के घाट. विधवा भाभी मंजूलता भार्गव के मकान के पास बैठने के लिए पत्थर की पट्टी बनवा रहा था। इस पर मंजूलता के बेटे विनय ने राजू से कहा यह यहाँ पढ़ी बनाने की बजाय बौड़ा दूर बना लें नहीं तो आए दिन कहासुनी व झगड़े होंगे। इसी बात पर राजू झगड़ा करने लगा और इसी बीच राजू का बेटा राधाशरण भार्गव भी वहां आ गया और झगड़े में शामिल हो गया। कुछ देर में कहासुनी से शुरू हुआ झगड़ा इतना बढ़ गया कि आरोपी राजूचबूतरा बनाने का विवाद खूरेजी में बदला. और उसका बेटा राधाशरण कुल्हाड़ी और फरसे निकाल लाए और विनय पर हमला कर दिया।

विनय में तो जैसे तैसे भाग कर जान अपनी बचाई। लेकिन तभी झगड़ा सुनकर घर के बाहर आई मंजुलता और उसके छोटे बेटे गिज पर दोनों आरोपी बाप बेटे टूट पड़े और लाड़ी और लाठी आदि से उन पर हमला कर दिया। हमले से बचने के लिए दोनों मां बेटे भागने लगे लेकिन पायल मंजूलता की भागते, भागते ठोकर लग गई और वह गिर गई तभी आरोपी ने उस पर हमला कर दिया। मां ने मौके पर ही दम तोड़ दिया। जबकि बेटा गिरोज गंभीर रूप से घायल है। उसे जिला अस्पताल भर्ती कराया गया है। गिरोज की रीढ़ की हड्झे और सिर के पिछले हिस्से में गहरी चोट है.

जिस समय कहासुनी हो रही रही थी उस वक्त मंजूलता अपने बच्चों के लिए खाना पका रही थी चिल्लाने की आवाज सुनकर वो बाहर आई और ये हत्याकाण्ड हो गया मृतिका के हाथों पर आटा लगा हुआ था। आरोपी बाप बेटा उस समय इतने खुखार हो गए थे कि मोहल्ले के लोगों के समझाने पर भी वे नहीं माने। मौका पर मौजूद लोगों की माने तो भूतिका जब हमले में पायल होकर अपनी अंतिम सांस ले रही थी तब भी वह यही गुहार लगाती रही थी कि कोई तो मेरे बच्चों को बचा लो नहीं तो ये उन्हें नहीं छोड़ेंगे यह लाइव मर्डर भीती के मार्केट में स्थिति एक दुकान के सीसीटीव्ही में कैद हो गया है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here