मेरठ छेड़छाड़ मामला: पीड़िता ने कहा- ऐसे दरिंदो को सजा ए मौत हो इन्हें मुठभेड़ में मार देना चाहिए-आंचलिक ख़बरें-अंशुल राजपूत

0
30

मेरठ में एनएच-58 पर बृहस्पतिवार को दरिंदों की हैवानियत की शिकार बनी युवती का कहना है कि दोनों को मुठभेड़ में मार देना चाहिए था ऐसे लोगों को समाज में जीने का हक नहीं है अब इन्हें उम्रभर सलाखों के पीछे रखना चाहिए
पीड़ित युवती को जब पता चला कि आरोपी राहुल उर्फ गोलू को पुलिस मुठभेड़ में गोली लगी है ऑटो चालक बॉबी गुप्ता भी मुठभेड़ में घायल हुआ है इसके विपरीत परिवार के लोगों से कहा कि दरिंदों को जिंदा नहीं छोड़ना चाहिए था
बृहस्पतिवार सुबह बागपत फ्लाईओवर के पास से वह रोजाना की तरह एक ऑटो में बैठी थी ऑटो में चालक के बराबर वाली सीट पर एक युवक बैठा था। मैंने समझा कि वह यात्री ही होगा जैसे ही मैं बैठी चालक ने तेज स्पीड में ऑटो दौड़ाना शुरू कर दिया युवती ने बताया ऑटोचालक ने अन्य किसी यात्री को नहीं बैठाया चालक से युवती ने कहा कि इतना तेज मत चलाओ तब अचानक स्पीड कम कर ली और आगे बैठा युवक उसके बराबर की सीट पर आकर बैठ गया
दरिंदे को मारी गोली चलते ऑटो में युवती से किया था बालात्कार का प्रयास मुठभेड़ में दरोगा भी घायल
दुस्साहस: हाईवे पर चलते ऑटो में बालात्कार का प्रयास कई किलोमीटर तक युवती को छेड़ते-नोचते रहे दरिंदे
वहीं उसकी हरकत देखकर शक हुआ तो बैग से मोबाइल निकालने लगी, तभी युवक ने मोबाइल झपट लिया अश्लील हरकतें शुरू कर दी। शोर मचाया तो कई थप्पड़ जड़ दिए। उसका पर्स व अंगूठी भी छीन ली। कपड़े फाड़ दिए। चेहरे और शरीर में कई जगह चोट पहुंचाई। पांच किमी तक हाईवे पर नोचते रहे
इसके बाद डाबका कट के पास वह ऑटो से कूद गई दरिंदों ने फिर से जबरन बैठाया और डाबका के जंगल की तरफ ऑटो लेकर भागने लगे युवती ने की कार चालक की सराहना
युवती ने बताया कि भला हो एक कार चालक का। जिसने उसकी आवाज सुन ली। इसके बाद वह चंगुल से मुक्त हो सकी
युवती ने कहा कि ऐसे दरिंदों को पुलिस को सही सबक सिखाना चाहिए उन्हें कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए। आरोपी जेल से बाहर आएंगे तो फिर किसी को अपना शिकार बनाएंगे
रोज करते थे छींटाकशी
ऑटो चालक बॉबी व उसके दोस्त राहुल ने पुलिस को बताया कि वह अधिकांश आने जाने वाली लड़कियों पर छींटाकशी करते थे युवती किसी को बता नहीं पाई इसीलिए सबसे पहले उसका मोबाइल लूट लिया था। आरोपियों ने बताया कि वह ऑटो लेकर जंगल की तरफ ले जाने वाले थे

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here