‘कागजी शेर’ मोदी अमेरिकी दबाव में झुके : कांग्रेस

0
74

नयी दिल्ली। कांग्रेस ने ईरान से तेल आयात में 25 फीसदी की कमी होने को लेकर नरेंद्र मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए आरोप लगाया कि यह इस बात का सबूत है कि विदेश नीति में प्रधानमंत्री मोदी ‘कागजी शेर’ हैं। पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने यह भी कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान को ‘अमेरिकी प्रतिबंधों के सामने झुकने’ पर जवाब देना चाहिए।

कांग्रेस नेता जयवीर शेरगिल ने संवाददाताओं से कहा, ‘भारत तेल की अपनी कुल जरूरत का 80 फीसदी ईरान से आयात करता है। ईरान से तेल आयात में 25 फीसदी कटौती की गई है। सरकार के इस फैसले का सीधा-सीधा नुकसान हर भारतवासी को होगा, हर किसान को होगा, हर व्यापारी को होगा, हर गृहिणी को होगा। इस नुकसान की भरपाई आम आदमी अपनी जेब से करेगा, मोदी सरकार नहीं करेगी।’

उन्होंने सवाल किया, ‘मोदी सरकार को देशवासियों को ये जवाब देना पड़ेगा कि देशवासी अपनी जेब काटकर मोदी जी की विफल विदेश नीतियों की भरपाई क्यों करें?’ शेरगिल ने आरोप लगाया, ‘ईरान से तेल के आयात पर कटौती लगाकर मोदी जी ने साबित कर दिया कि वो विदेश नीति में शेर नहीं, कागजी शेर हैं, जो अमेरिका के दबाव में आकर भारत के राष्ट्रीय हित का बलिदान कर रहे हैं, हिंदुस्तानियों के हितों के विरुद्ध अमेरिकियों के सामने घुटने टेक रहे हैं।’
इससे पहले, सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा, ‘ईरान से भारत का तेल आयात 25 फीसदी कम होकर 7,77,000 बैरल से 5,70,000 बैरल हो गया। क्या मोदी सरकार ने ‘राष्ट्रीय हित’ से समझौता किया है।’ उन्होंने कहा, ‘ईंधन की कीमतें आसमान छू रही हैं और आम लोगों की जेब पर चपत लग रही है। प्रधानमंत्री और पेट्रोलियम मंत्री को ईरान पर अमेरिकी प्रतिबंधों के सामने झुकने के लिए जवाब देना चाहिए।’
ईरान से भारत के तेल आयात में पिछल महीने 25 फीसदी की कमी आई है। हाल ही में अमेरिका ने कहा था कि सभी देश नवंबर तक ईरान से तेल का आयात का बंद कर दें और ऐसा नहीं करने वाले देशों पर प्रतिबंध लगाया जाएगा।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here