जूनागढ़ में आलम के जुलूस में नगर निगम प्रशासन की बर्बरता-आंचलिक ख़बरें-शब्बीर जलाली

News Desk
By News Desk
2 Min Read
sddefault 7

अगले ताजिया/जन्माष्टमी जुलूस में क्या होगा? एक सवाल जो शहरी लोगों में उठता है। ! मैं सामान्य तौर पर आवारा पशुओं की, समस्या हर शहर में मौजूद है, और इसके कारण मानव चोट/मृत्यु की कई घटनाएं हुई हैं, खासकर त्योहारों के दौरान, जब पशु शाखा से लोग मार्ग/स्थानों के माध्यम से बड़े पैमाने पर वसा एकत्र करते हैं। भीड़ में आवारा पशुओं की जान बचाने के लिए, जहां सतर्कता बरती जा रही है, वहीं अब मुहर्रम ताजिया का त्योहार शुरू हो गया है, जिसमें बीती रात १२:30 बजे दीवान चौक क्षेत्र में आलम (ताजिया) के जुलूस के दौरान जूनागढ़ के आवारा पशुओं को देखा गया। सड़क के बीचो-बीच धन दिखाई दिया, जिससे कई बार दुर्घटनाएं भी होती थीं। जूनागढ़ नगर निगम की पशु शाखा जब पीछे छूट गई तो जुलूस में शामिल एक महिला थी देखा कि आवारा पशुओं का झुंड किसी कारणवश निकल जाता है या जुलूस में प्रवेश कर जाता है।यदि बच्चों और बुजुर्गों की जान जाने का सवाल हो तो मनपा की पशु शाखा की पूरी जिम्मेदारी ली जाए।
फिर सवाल उठता है कि नगर निगम जूनागढ़ के लोगों को इस समस्या से कब निजात दिलाएगा।अगले सोमवार और मंगलवार मुहर्रम ताजिया के जुलूस के मुख्य दिन हैं, जिसमें बड़ी संख्या में लोग जुटेंगे। देखना होगा कि क्या कदम उठाए जाते हैं इस संबंध में नगर निगम प्रशासन कार्रवाई करेगा।

 

Share This Article
Leave a comment