राज्य सरकार के द्वारा चलाए गए शराबबंदी कानून का हर दावा बेगूसराय में खोखला

News Desk
By News Desk
2 Min Read
maxresdefault 2

राज्य सरकार के द्वारा चलाए गए शराबबंदी कानून का हर दावा बेगूसराय में खोखला साबित हो रहा है ।शराब पीने से एक व्यक्ति की संदेहास्पद मौत मामले में एक जनप्रतिनिधि ने दावा किया है कि मृतक प्रत्येक दिन नशे का सेवन किया करता था। मौत को लेकर एक बार फिर जिला प्रशासन सवाल के घेरे में खड़े दिख रही है । प्रश्न चट्टान की तरह खड़ा है आखिर इतनी सख्त कानून के बाद भी जिले में शराब बिक्री पर पुलिस प्रशासन अंकुश लगाने में विफल साबित क्यों हो रही है ? शराब बिक्री को लेकर लोग सकते में हैं तरह-तरह की चर्चाएं हो रही है। घटना बेगूसराय जिले की है जहां एक 55 वर्षीय व्यक्ति का शव बंद कमरे में मिलने से पुरे क्षेत्र में सनसनी फैल गई । घटना नगर थाना क्षेत्र के हर्रख नगर निगम वार्ड 12 की है। बताते चलें कि आज जैसे ही लोगों की आंख खुली एक मकान के बगल में दुर्गंध लोगों ने महसूस किया । फिर इसकी सूचना पुलिस को दी। मौके पर पहुंचकर पुलिस ने मकान के दरवाजे को तोड़ा और जब अंदर घुसा तो विनोद कुमार मिश्र का शव पड़ा हुआ था। परिजनों ने बताया कि पट्टे की दिन की तरह अत्यधिक शराब सेवन से ही मौत होने की आशंका जता रहे हैं । उन्होंने बताया कि विनोद कुमार मिश्र रोज अत्यधिक मात्रा में शराब का सेवन करते थे और शराब की वजह से ही मौत हुई है। फिलहाल पुलिस शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजने की तैयारी में जुट गई है तथा आगे की छानबीन शुरू कर दी है ।

 

Share This Article
Leave a comment