व्यवस्थाओं के बीच नवनिर्वाचित जनप्रतिनिधियों को बांटा प्रमाण पत्र-आंचलिक ख़बरें-रमेश कुमार पाण्डे

News Desk
By News Desk
2 Min Read
maxresdefault 12

 

अव्यवस्थाओं के बीच नवनिर्वाचित जनप्रतिनिधियों को बांटा प्रमाण पत्र

ढीमरखेड़ा में सारणीकरण के बाद की गई अधिकृत घोषणा,स्ट्रांग रूम में पानी और बैठने की नहीं रही व्यवस्थाएं

जिला कटनी – ढीमरखेड़ा में त्रि स्तरीय पंचायत चुनाव के तीनों चरण समाप्त होने के बाद, गुरुवार को प्रत्यासियों के नामों का सारणीकरण कर, अधिकृत परिणामों की घोषणा की गई। इसके बाद ढीमरखेड़ा जनपद के 72 सरपंचों और 23 जनपद सदस्यों को, उनके विजयी होने का प्रमाण पत्र वितरित किया गया। हालांकि इसके लिए प्रशासन ने पहले से ही ढीमरखेड़ा शासकीय महाविद्यालय में बनाये गए, स्ट्रांग रूम में तैयारियां की थी, लेकिन गुरुवार को जब प्रत्याशी जीत का प्रमाण पत्र लेने पहुँचे तो, उन्हें परेशानियों का सामना करना पड़ा।ढीमरखेड़ा शासकीय महाविद्यालय में बनाएं गए, स्ट्रांग रूम में लोंगों को बैठने की व्यवस्था में भारी कमी नजर आई, दूसरी ओर देखा गया की, पानी के लिए लोंगों को और कर्मचारियों को परेशानी उठानी पड़ी। इतना ही नहीं महिलाओं को बैठने की कोई व्यवस्था नहीं रही।प्रमाण पत्र लेने पहुँची नवनिर्वाचित महिलाओं को जमीन पर बैठकर, प्रमाण पत्र लेने इंतजार करना पड़ा।

कांग्रेस विधायक ने कहा प्रशासन की है लापरवाही:- कांग्रेस के बड़वारा विधायक विजयराघवेंद्र सिंह ने ढीमरखेड़ा प्रशासन पर लापरवाही बरतने का आरोप लगाया है।उन्होंने कहा कि, बारिश के चलते यहां पर न तो लोंगो के बैठने की व्यवस्था की गई है, न ही पीने के पानी की। यहाँ पहुँचे लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा। विधायक ने इस संबंध में एसडीएम नदिमा शीरी से भी चर्चा किया, तो एसडीएम ने जनपद सीईओ विनोद पाण्डेय को व्यवस्था करने का हवाला दिया। फिर भी विधायक ने कहा कि, प्रशासन को पहले सचेत होना चाहिए था।लेकिन यहां ऐसा कुछ भी नहीं है।हालांकि विधायक ने खुद भी पानी पाउच की बोरियां मंगाकर ग्रामीणों को पानी उपलब्ध कराया।

Share This Article
Leave a comment