Startup India Innovation सप्ताह का उत्सव मनाया गया

Aanchalik khabre
By Aanchalik khabre
6 Min Read
Untitled design 9 1

Startup के लिए ‘स्टार्टअपशाला’ फ्लैगशिप एक्सेलेरेटर कार्यक्रम की शुरुआत की Startup India Innovation वीक के दौरान छात्रों

डीपीआईआईटी ने निवेश, नेटवर्किंग और मेंटरशिप को प्रोत्साहित करने को लेकर Startup के लिए ‘स्टार्टअपशाला’ फ्लैगशिप एक्सेलेरेटर कार्यक्रम की शुरुआत की स्टार्टअप इंडिया इनोवेशन वीक के दौरान छात्रों, इच्छुक उद्यमियों के लिए ‘स्टार्ट अप कैसे करें’ विषय पर वेबिनार आयोजित किए गए |

केंद्रीय वाणिज्य व उद्योग, उपभोक्ता मामले, खाद्य व सार्वजनिक वितरण और वस्त्र मंत्री श्री पीयूष गोयल ने Startup इंडिया इनोवेशन सप्ताह के दौरान देश में यूनिकॉर्न के विकास का उत्सव मनाने और यूनिकॉर्नों के विकास में सहायता करने को लेकर एक सहयोगात्मक तरीका अपनाने के लिए एक यूनिकॉर्न गोलमेज सम्मेलन की अध्यक्षता की।

श्री पीयूष गोयल ने 40 यूनिकॉर्नों के साथ गोलमेज बैठक की

इसमें प्रतिभागी 40 यूनिकॉर्नों ने अपने अनुभव से हासिल सीख और उन कारकों को रेखांकित किया, जिन्होंने उनके विकास को सक्षम बनाया। इसके अलावा भारतीय इकोसिस्टम के विकास को बढ़ावा देने के लिए उन क्षेत्रों की पहचान की, जो देश को वैश्विक स्टार्टअप नेता के रूप में उभरने में सहायता कर सकते हैं।

Untitled design 10

श्री पीयूष गोयल ने यूनिकॉर्न से एक साथ आने और एक यूनिकॉर्न क्लब या एसोसिएशन स्थापित करने का अनुरोध किया, जो देश में स्टार्टअप्स के लिए पूंजी तक पहुंच के समाधान के रुप में साथ आएगा। यह बातचीत स्टार्टअप अनुकूल वातावरण को और अधिक बढ़ावा देने के लिए नियामक प्रक्रियाओं को सुव्यवस्थित करने, टियर-2/3 शहरों में पहुंच बढ़ाने व निजी क्षेत्र में वित्तीय संस्थानों के सर्वश्रेष्ठ अभ्यासों से सीखने पर केंद्रित था।

उद्योग संवर्धन और आंतरिक व्यापार विभाग (डीपीआईआईटी) ने 10 से 18 जनवरी, 2024 तक पूरे देश में नवाचार और उद्यमिता पर देश के प्रमुख Startup , उद्यमियों, निवेशकों, नीति निर्माताओं और अन्य हितधारकों के एक साथ आने का उत्सव मनाया। इसमें कई प्रमुख घोषणाएं और लॉन्चिंग की गईं। इनमें स्टार्टअप इंडिया का एक्सेलेरेटर कार्यक्रम- ‘स्टार्टअपशाला’ भी शामिल है। यह शुरुआती चरण के स्टार्टअप्स के लिए 3 महीने का एक्सेलेरेटर कार्यक्रम है, जो उन्हें आगे बढ़ने के लिए जरूरी जानकारी, नेटवर्क, धनराशि और मार्गदर्शन तक पहुंच प्रदान करता है। इस कार्यक्रम का हर एक समूह एक विशेष क्षेत्र पर केंद्रित होगा।

Untitled design 11

इसमें पहला क्लीनटेक होगा और हर समूह से 20 स्टार्टअप्स को आवेदन के लिए एक ओपन कॉल के जरिए विशेषज्ञों की ओर से चुना जाएगा।इसके लिए 10 जनवरी 2024 से स्टार्टअप इंडिया हब https://www.startupindia.gov.in/content/sih/en/Startup_Sala.html पर आवेदन किए जा सकते हैं।

छात्रों और इच्छुक उद्यमियों को प्रेरित करने पर ‘उभरते उद्यमियों के लिए मार्ग मेंटरशिप श्रृंखला’ शीर्षक से ‘Startup कैसे करें’ पर केंद्रित 5 समर्पित वेबिनार आयोजित किए गए। उद्योग जगत के नेताओं और सलाहकारों ने Startup शुरू करने की बुनियादी बातों के बारे में जानकारी और महत्वपूर्ण सीखों को साझा किया। इन सभी सत्रों को Startup India सोशल मीडिया हैंडल के साथ-साथ युवा उद्यमियों के लिए मायभारत पोर्टल पर लाइव होस्ट किया गया।

Startup India Innovation सप्ताह के 75 से अधिक कार्यक्रमों ने उद्यमिता के लिए उत्प्रेरक

Startup India Innovation सप्ताह के 75 से अधिक कार्यक्रमों ने उद्यमिता के लिए उत्प्रेरक के रूप में काम करने के साथ भारत के समृद्ध इकोसिस्टम को प्रदर्शित किया और अनगिनत महत्वाकांक्षी संस्थापकों के सपनों को प्रज्जवलित किया।

इस सप्ताह में महिला उद्यमियों को सशक्त बनाने वाली कार्यशालाओं से लेकर इनक्यूबेटर चैंपियनों के लिए प्रशिक्षण क्षेत्र तक के सलाहकारों और प्रशिक्षुओं ने जानकारी साझा की, जिससे महत्वाकांक्षी अग्रदूतों के मस्तिष्क में उत्साह का संचार किया गया। कई शहरों में हितधारकों के साथ चर्चा सहित कई विचारशील गोलमेज बैठकें आयोजित की गईं और गठबंधन बनाया गया, जो भविष्य के स्टार्टअप इकोसिस्टम को आकार देगा।

इसके अलावा कारोबारियों के साथ Startup की वन-टू-वन मेंटरशिप भी इस सप्ताह की शुरुआत में लॉन्च की गई थी। इस श्रृंखला में वित्तीय ऋण व सहायता, संचालन, टिकाऊ नवाचार और नई प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में कारोबारियों के साथ शॉर्टलिस्ट किए गए स्टार्टअप के लिए विशेष सहायता व मार्गदर्शन शामिल था। इसमें शामिल कॉरपोरेट साझेदार कंपनियों में एचसीएल, एचएसबीसी इंडिया, क्वालकॉम इंडिया प्राइवेट लिमिटेड और टीसीएस फाउंडेशन शामिल थी।

नवाचार व स्थायित्व के बारे में और अधिक जागरूकता उत्पन्न करने के लिए Startup India के वैश्विक भागीदारों के साथ एक वर्चुअल पैनल चर्चा आयोजित की गई। इस पैनल ने इन्क्यूबेशन, वित्तीय पोषण व वित्तीय सहायता, सार्वजनिक निजी भागीदारी मॉडल, बाजार पहुंच और सरकारी बुनियादी ढांचे के रूप में नवाचार के 5 प्रमुख आधारों पर अपना ध्यान केंद्रित किया।

सरकारी ई-मार्केटप्लेस (जीईएम) पर स्टार्टअप्स को उपलब्ध लाभों के बारे में जागरूक करने के लिए महाराष्ट्र के मुंबई में एक समर्पित कार्यशाला आयोजित की गई। इसके अलावा 9 जनवरी, 2024 को तेलंगाना स्थित हैदराबाद विश्वविद्यालय में सार्वजनिक खरीद पर एक सफल कार्यशाला भी आयोजित की गई, जिसमें 70 से अधिक उद्यमियों ने हिस्सा लिया।

 

Visit our social media pages

YouTube:@Aanchalikkhabre

Facebook:@Aanchalikkhabre

Twitter:@Aanchalikkhabre

इसे भी पढ़े : One Day Workshop का आयोजन मानक चिह्न की जानकारी देने के लिए किया गया

 

Share This Article
Leave a comment